मुख्य विषयवस्तु में जाएं

                                                                                                                                                      

स्क्रीन रीडर   

RTI Logo  रोजगार विवरण      

अंग्रेजी

   ए+    ए-

 

उपलब्धियाँ>> पुरस्कार >>
AWARDS
2020
डॉ पूजा देवी को जल गुणवत्ता निगरानी और ऊर्जा संचयन के लिए सामग्री इंजीनियरिंग के प्रति उसके योगदान के लिए डॉ सनक मिश्रा, राष्ट्रपति इंडियन नेशनल एकेडमी ऑफ इंजीनियर्स इन वर्चुअल आईएनएई ऑनलाइन वार्षिक सम्मेलन 21-22 दिसंबर, 2020 को प्रतिष्ठित "आईएनएई यंग इंजीनियर अवार्ड 2020"अंग्रेज़ी(930KB)Image Not Foundप्रदान किया। उन्हें पुरस्कार में प्रशस्ति पत्र और 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार दिया गया। इसके साथ ही उन्हें अकादमी में INAE युवा एसोसिएट के रूप में भी शामिल किया गया है।

श्री विनोद मिश्रा, तकनीकी अधिकारी, भारत के इंजीनियर्स संस्थान के युवा इंजीनियर पुरस्कार (2020-2021) के लिए चुने गए।

डॉ उमेश कुमार तिवारी को 27 सितंबर, 2020 को इंस्टीट्यूशन ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकॉम इंस्टीट्यूटर्स (IETE), नई द्वारा फाइबर ऑप्टिक्स सेंसर इंस्ट्रूमेंटेशन के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए वर्ष 2020 के लिए IETE-CEOT (94) अवार्ड (द्विवार्षिक) प्राप्त हुआ है। यह पुरस्कार ऑप्टो-इलेक्ट्रॉनिक्स कवरिंग सामग्री, उपकरणों, सर्किट, प्रौद्योगिकियों, प्रणालियों और अनुप्रयोगों के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए एक व्यक्ति को दिया जाता है। पुरस्कार में पदक, प्रशस्ति पत्र और रु 10,000 / - का नकद पुरस्कार शामिल है।

डॉ मनोज के पटेल को 27 सितंबर, 2020 को सामाजिक और औद्योगिक अनुप्रयोगों के लिए उन्नत इलेक्ट्रोस्टैटिक छिड़काव तकनीक के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए वर्ष 2020 के लिए "IETE-हरि रामजी तोशनीवाल पुरस्कार" अंग्रेज़ी(527KB)Image Not Foundमिला है। यह पुरस्कार किसी व्यक्ति को उत्कृष्ट नवीन के लिए दिया जाता है। भारत में और विदेशों में उपयोग के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों और संबंधित प्रणालियों के विकास और उत्पादन के लिए उद्योग में व्यावहारिक अनुप्रयोग वाले विचार | पुरस्कार में एक पदक और एक प्रशस्ति पत्र होता है।

डॉ मनोज के पटेल ने एक उन्नत इलेक्ट्रोस्टैटिक छिड़काव प्रौद्योगिकी के डिजाइन और विकास में उल्लेखनीय योगदान के लिए इंजीनियरिंग विज्ञान विषय में प्रतिष्ठित "सीएसआईआर यंग साइंटिस्ट अवार्ड 2020 (CSIR YSA-2020)"अंग्रेज़ी(940KB)Image Not Foundप्राप्त किया है, जिसके आधार पर उत्पादों का विकास और विपणन किया गया है। डॉ पटेल को 79 वें सीएसआईआर स्थापना दिवस के दौरान 26 सितंबर, 2020 को यह पुरस्कार प्रदान किया गया |सीएसआईआर यंग साइंटिस्ट अवार्ड में एक प्रशस्ति पत्र, एक पट्टिका, एक नकद पुरस्कार और 45 वर्ष की आयु तक विशेष मानदेय शामिल है।

"बेस्टओरल प्रेजेंटेशन" अंग्रेज़ी(955KB)Image Not Foundके लिए श्री मयंक गर्ग को इंजीनियरिंग, इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (यूआईईटीटी)  में इंटीग्रेटेड इंटरडिसिप्लिनरी इनोवेशन पर इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस में ऑनलाइन "फेराइटिन के इलेक्ट्रोकेमिकल डिटेक्शन के लिए अमाइन फंक्शनल ग्राफीन क्वांटम डॉट्स" के रूप में योगदान करने वाले पेपर पेश करने के लिए पुरस्कार दिया गया है। 

डॉ पूजा को एसईआरबी महिला उत्कृष्टता पुरस्कार (2020) इंजीनियरिंग विज्ञान वर्ग के तहत दिया गया| "2 डी मैटेरियल्स इंजीनियरिंग फॉर सिमल्टीजेंट हाइड्रोजन प्रोडक्शन एंड इमर्जिंग पॉल्यूटेंट्स डिग्रेडेशन" परियोजना को निष्पादित करने के लिए 18.00 लाख की एक संबद्ध परियोजना के वित्तपोषण से सम्मानित किया गया |

सीएसआईआर के स्थापना दिवस के दौरान 29 जून, 2020 को एनईईआरआई, नागपुर दुवारा "इलेक्ट्रोस्टैटिकली चार्जेड स्प्रे फॉर डस्ट मिटिगेशन और स्मॉग कंट्रोल" के क्षेत्र में उनके अभिनव कार्य के लिए डॉ मनोज के पटेल, सीएसआईआर-सीएसआईओ को सुशीला शर्मा न्यू आइडिया अवार्ड2020अंग्रेज़ी(379KB)Image Not Foundसे सम्मानित किया गया है। पुरस्कार में एक प्रशस्ति पत्र और नकद पुरस्कार दिया गया |

डॉ पूजा को "INYAS में भारतीय राष्ट्रीय युवा अकादमी (2020-24)",अंग्रेज़ी(965KB)Image Not Found INYAS भारतीय राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (INSA), नई दिल्ली में पांच साल के कार्यकाल के लिए सदस्य के रूप में शामिल किया गया|इंजीनियरिंग विज्ञान श्रेणी के तहत, डॉ पूजा एक सक्रिय सदस्य के रूप में "भारत के युवा वैज्ञानिकों के लिए चुनौतियां" और विज्ञान संवर्धन गतिविधियों के लिए श्वेत पत्र में योगदान दे रही है।

डॉ पूजा देवी को "उद्योग से पानी और हाइड्रोजन से ईंधन के लिए कुशल ईंधन का विकास" के लिए DST प्रोजेक्ट को IISER तिरुवनंतपुरम, 27-28 फरवरी " दुवारा सर्वश्रेष्ठ पोस्टर अवार्ड 2020 से सम्मानित किया गया |

डॉ पूजा की थीसिस का काम "कार्बन मैनास्ट्रोस्टेस के साथ विषाक्त मेटलॉइड्स का चयनात्मक पता लगाने" के लिए "जीसी जैन मेमोरियल बेस्ट थीसिस अवार्ड", भारतीय सामग्री कॉन्क्लेव और एजीएम कॉन्फ्रेंस, सीएसआईआर-सेंट्रल ग्लास एंड सिरेमिक रिसर्च इंस्टीट्यूट, कोलकाता |

2019

  डॉ राजकुमार, वरिष्ठ वैज्ञानिक, सीएसआईआर-सीएसआईओ, चण्‍डीगढ़ को लेज़र लीथोट्रिप्‍सी प्रणाली के स्वदेशी विकास में उल्लेखनीय योगदान के लिए एलेंजर्स ग्लोबल हेल्थ केयर (प्राइवेट) लिमिटेड ने "विशेष मान्यता पुरस्कार 2019"अंग्रेज़ी(335KB)Image Not Foundसे सम्‍मानित किया।

डॉ अमित लाडी, वरिष्ठ वैज्ञानिक, सीएसआईआर-सीएसआईओ, चण्‍डीगढ़ को 28 सितंबर, 2019 को डॉ राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय, अयोध्या, उत्तर-प्रदेश में आयोजित 62 वें वार्षिक आईटीआई सम्मेलन के अवसर पर "आईआईटीई हरी राम जी तोषनीवालपुरस्कार 2019" अंग्रेज़ी(190KB)Image Not Found से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उन्हें इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों के विकास एवं उत्पादन के क्षेत्र में उद्योगों  के लिए व्यावहारिक अनुप्रयोगों  हेतु उनके उल्लेखनीय नवाचारों के लिए प्रदान किया गया।

डॉ मनोज पटेल, वरिष्ठ वैज्ञानिक सीएसआइआर सीएसआईओ चंडीगढ़ को इलेक्ट्रॉनिक एवं टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियरिंग के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए वर्ष 2019-20  का "आईईआई युवा वैज्ञानिक पुरस्कार"अंग्रेज़ी(199KB)Image Not Foundप्रदान किया गया यह पुरस्कार इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स द्वारा 19 अक्टूबर 2019 को कुरुक्षेत्र में आयोजित ‘35 वें राष्‍ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक एवं टेलीकम्युनिकेशन इंजीनियर सम्मेलन के अवसर पर प्रदान किया गया।

डॉ दिव्या अग्रवाल वरिष्ठ वैज्ञानिक सीएसआईआर-सीएसआईओ, चण्‍डीगढ़ को सिचुएशन अवेयरनेस एनहांस्‍मेंट ऑफ फाइटर एयरक्राफ्ट पायलट एंड ग्राउंड एप्लीकेशंस हेतु उपकरण विन्यास समाधान विकसित करने में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए इंजीनियरिंग विज्ञान के क्षेत्र में प्रतिष्ठित "सीएसआईआर युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2019"अंग्रेज़ी(312)Image Not Found प्रदान किया गया। उन्होंने राष्ट्रीय महत्व के अनुसंधान एवं विकास क्रियाकलापों  में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

डॉ संजीव कुमार, वरिष्ठ वैज्ञानिक को 28 फरवरी, 2019 को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस के अवसर पर हरियाणा राजभवन में आयोजित समारोह में "हरियाणा युवा विज्ञान रतन पुरस्कार 2017"अंग्रेज़ी(1220KB)Image Not Found से सम्मानित किया गया। उन्हें यह पुरस्कार हरियाणा के माननीय राज्यपाल श्री सत्यदेव नारायण आर्य ने वैज्ञानिक प्रौद्योगिकी विकास में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रदान किया। 

डॉ पूजा देवी, वरिष्ठ वैज्ञानिक को पदार्थ विज्ञान श्रेणी में इंडियन साइंस कांग्रेस एसोसिएशन द्वारा युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2019 से सम्मानित किया गया। उन्हें यह पुरस्कार डॉ मनोज कुमार चक्रवर्ती ने 7 जनवरी, 2019 को लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी, जालंधर में आयोजित 106वीं इंडियन साइंस कांग्रेस के अवसर पर प्रदान किया।

डॉ पूजा देवी, वरिष्ठ वैज्ञानिक ने इंटरनेशनल सोसायटी फॉर एनर्जी एनवायरनमेंट एंड सस्टेनेबिलिटी आईआईटी, कानपुर द्वारा प्रदत्त "आईएसईईएस युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2019" अंग्रेज़ी(573KB)Image Not Found प्राप्त किया। यह पुरस्कार उन्हें मैटेरियल साइंस, सेंसर एंड एनर्जी हार्वेस्टिंग के क्षेत्र में अनुसंधान के लिए श्री विजय कुमार सारस्वत (सदस्य नीति आयोग) तथा प्रो. अशोक पांडेय (अध्यक्ष, आईएसईईएस)  द्वारा 18-21 दिसंबर 2018 को आईआईटी रुड़की में आयोजित तीसरे एसईईसी कार्यक्रम में प्रदान किया गया।

2018
डॉ अमित लाडी, वरिष्ठ वैज्ञानिक को “दिव्यांगों के सशक्तीकरणके लिए राष्ट्रीय पुरस्कार – 2018”अंग्रेज़ी(531KB)Image Not Foundप्रदान किया गया। डॉ अमित लाडी को यह पुरस्कार दिव्यांगों के जीवन में सुधार के उद्देश्य सेश्रेष्ठ नवीन लागत प्रभावी उत्पाद विकासके क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य हेतु भारत के माननीय उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू, द्वारा दिव्यांग अंतरराष्ट्रीय दिवस पर 3 दिसंबर 2018 को विज्ञान भवन, नई दिल्ली में आयोजित समारोह में यह सम्मान दिया गया।

श्री अमरेंद्र गोप, तकनीकी अधिकारी एवं श्री अनूब्रता रॉय, विद्यार्थी, सीएसआईआर अकादमी को एनआइटीटीटीआर, चंडीगढ़ में 05-07 सितंबर 2018 को आदिप्ररूप विकास पर आयोजित राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता टैक-स्‍पर्धामें प्रथम पुरस्कार प्राप्त हुआ। उन्हें यह पुरस्कार वरिष्ठ वैज्ञानिक श्री रिपुल घोष के मार्गदर्शन मैं वार्ड ऑफ सिस्टम फार रेडिंग  एनिमल्स के प्रोटोटाइप विकास और प्रदर्शन के लिए प्रदान किया गया।

डॉ. मनोज पटेल, वरिष्ठ वैज्ञानिक को "एनआरडीसी राष्ट्रीय सामाजिक नवोन्मेष पुरस्कार-2017" अंग्रेज़ी(830KB)Image Not Foundसे सम्मानित किया गया। उन्हें यह पुरस्कार 20वें राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी पुरस्कार वितरण समारोह के अवसर पर 11 मई, 2018 को डॉ. हर्ष वर्धन, केंद्रीय मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा प्रदान किया गया। डॉ. मनोज को यह पुरस्कार किसानों द्वारा फसलों को भयानक बीमारियों और कीटों से बचाने के लिए उन्नत इलेक्ट्रोस्टैटिक स्प्रिंग टैक्नालॉजी के विकास में उनके योगदान के लिए दिया गया।

मयंक गर्ग, निशांत कुमार, अमित लोचन शर्मा तथा सुमन सिंह  ने आईआईटी, कानपुर;  पंजाब विश्वविद्यालय, चण्‍डीगढ़ और यूनिवर्सिटी आफ इलिनॉइस, शिकागो, यूएसए द्वारा 13 - 15 अप्रैल, 2018 को आयोजित आईएसएफएम-2018 विषयक अंतर्राष्ट्रीय संगोष्ठी में एमिनो एसिड स्टेबलाइज्ड सिंथेसिस ऑफ टंगस्टन डाईसल्फाइड क्वांटम डॉट्सपेपर प्रस्तुत किया, जिसे सर्वश्रेष्ठ पेपर का पुरस्कार प्रदान किया गया।

2017

सीएसआईआर-सीएसआईओ को गोल्‍ड-स्‍कॉच ट्रांस्‍फोर्मेंशनल नवचार पुरस्‍कार सहित पांच स्‍कॉच पुरस्‍कार प्राप्‍त हुए |

संगठन के वैज्ञानिक डॉ मनोज कुमार पटेल, सुश्री सुदेशना बागची एवं श्री हेमंत के साहू के परियोजना कार्य सामाजिक एवं औद्योगिक अनुप्रयोगों के लिए "इलेक्‍ट्रोस्‍टेटिकस्‍प्रेइंग प्रौद्योगिकी" अंग्रेज़ी(707KB)Image Not Found को एआईसीटीई, वसंत कुंज, नई दिल्‍ली, भारत में 8 दिसम्‍बर, 2017 को आयोजित कार्यक्रम में शीर्ष 40 नवाचारों में चुना गया।

सुश्री नागावारा अपर्णा अकुला, वैज्ञानिक को इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स एवं दूरसंचार अभियांत्रिकी के क्षेत्र में उनके उल्‍लेखनीय योगदान के लिए "आईईआई युवा इंजीनियरपुरस्‍कार 2017-2018" अंग्रेज़ी(218KB)Image Not Foundप्रदान किया गया। यह पुरस्‍कार उन्‍हें इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंजीनियर्स द्वारा 29-30 नवम्‍बर, 2017 को हैदराबाद में आयोजित सम्‍म्‍ोलन के अवसर पर श्री वीएचवीएस नरायण मूर्ति, प्रतिष्ठित वैज्ञानिक एवं निदेशक, रिसर्च सेन्‍टर ईमारत (डीआरडीओ) ने प्रदान किया।

डॉ. मनोज कुमार पटेल, वैज्ञानिक को पुणे अंतर्राष्‍ट्रीय केन्‍द्र 17 नवम्‍बर, 2017 को पुणे में आयोजित "राष्‍ट्रीय सामाजिक नवाचार सम्‍मेलन" अंग्रेज़ी(280KB)Image Not Foundमें भारत के शीर्ष 18 सामाजिक नवाचारकों में चयनित होने पर श्री प्रकाश जावेड़कर, मानव संसाधन विकास मंत्री, भारत सरकार द्वारा सम्‍मानित किया गया।

श्री अमित लाडी, वरिष्‍ठ वैज्ञानिक, सीएसआईआर-सीएसआईओ को भौतिक विज्ञान (उपकरण विन्‍यास सहित) में "सीएसआईआर युवा वैज्ञानिक पुरस्‍कार-2017अंग्रेज़ी(1098KB)Image Not Found प्राप्‍त हुआ। उन्‍हें यह पुरस्‍कार भारत के राष्‍ट्रपति माननीय श्री रामनाथ कोविंद द्वारा सीएसआईआर स्‍थापना दिवस के अवसर पर 26 सितम्‍बर, 2017 को विज्ञान भवन, नई दिल्‍ली में आयोजित कार्यक्रम में प्रदान किया गया।

डॉ. सुरेन्‍द्र सिंह सैनी, वैज्ञानिक को एलसीए-तेजस के लिए हेड-अप डिस्‍प्‍ले के स्‍वदेशी विकास में नवाचार पद्धतियों का प्रयोग करते हुए एविऑनिक्‍स डिस्‍प्‍ले प्रणाली के क्षेत्र में योगदान के लिए "आईईटीई-एलएलटी तन्‍मय सिंह डन्‍डास स्‍मृति पुरस्‍कार-2017" अंग्रेज़ी(192KB)Image Not Found प्रदान किया गया।

सुश्री नेहा खत्री, वैज्ञानिक ने 11-15 जुलाई, 2017 को चीन में आयोजित दूसरे "ब्रिक्‍स युवा वैज्ञानिक कॉन्‍क्‍लेव" अंग्रेज़ी(278)Image Not Foundमें भाग लिया।

संगठन को नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति, "चण्‍डीगढ़ द्वारा राजभाषा हिंदी में उल्‍लेखनीयकार्य" अंग्रेज़ी(321KB)Image Not Foundके लिए पुरस्‍क़त किया गया।

 

इण्‍डोस्विस प्रशिक्षण केन्‍द्र ने चण्‍डीगढ़ युनिवर्सिटी द्वारा आयोजित "टैक-इन्‍वेंट-2017" अंग्रेज़ी(203KB)Image Not Foundमें शानदार प्रदर्शन किया।

श्री सतीश कुमार, श्री रिपुल घोष, श्री आशीष गौरव, श्री सिद्धार्थ सरकार एवं श्री अमरेन्‍द्र गोप को तीव्र भूकंप की क्षेत्रीय अधिसूचना के लिए भूकंप चेतावनी प्रणालीविषयक प्रौद्योगिकी का सफल विकास करने के लिए "एनआरडीसी मेधावी आविष्‍कार पुरस्‍कार-2015" से सम्‍मानित किया गया। यह पुरस्‍कार उन्‍हें डॉ हर्षवर्धन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री, भारत सरकार द्वारा 24 मार्च, 2017 को भारतीय राष्‍ट्रीय विज्ञान अकादमी, नई दिल्‍ली में प्रदान किया गया।

2016

सीएसआईआर-सीएसआईओ द्वारा विकसित तीव्र भूकंप की क्षेत्रीय अधिसूचना के लिए भूकंप चेतावनी प्रणालीविषयक प्रौद्योगिकी को 15 दिसम्‍बर, 2016 को कान्स्टिीट्यूशन क्‍लब, नई दिल्‍ली में दो पुरस्‍कारों से सम्‍मानित किया गया।

पूजा डी, बब्‍बन बन्‍सोड एवं मनोज के नायक द्वारा लिखित 0-डी कार्बन क्‍वांटम डॉट्स फॉर हाइली सेन्सिटिव एंड सिलेक्टिव हैवी मैटालॉइड्स सेन्सिंग’’ विषयक पेपर का भारतीय विज्ञान संस्‍थान, बेंगलुरू में 11-15 दिसम्‍बर, 2016 को आयोजित अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में पुरस्‍कार प्राप्‍त हुआ।

सुश्री अपर्णा अकुला, वैज्ञानिक, सीएसआईआर-सीएसआईओ का "ब्रिक्‍सयुवा वैज्ञानिक कॉन्‍क्‍लेव-2016" अंग्रेज़ी(335)Image Not Foundके लिए चयन किया गया।

आईआईजीपी 2016अंग्रेज़ी(475KB)Image Not Foundसीएसआईआर-सीएसआईओ को शीर्ष 50 नवाचारों में स्‍थान मिला।

श्री मनोज पटेल, वैज्ञानिक को एयर-एसिस्‍टिड इलेक्ट्रोस्‍टैटिक स्‍प्रेयर के विकास के लिए "गांधियन युवाप्रौद्योगिकी नवाचार पुरस्‍कार" अंग्रेज़ी(594)Image Not Foundसे सम्‍मानित किया गया। उन्‍हें यह पुरस्‍कार 13 मार्च, 2016 को डॉ. आर. ए. माशेलकर, एफआरएस, अध्‍यक्ष, राष्‍ट्रीय नवाचार फाउंडेशन ने राष्‍ट्रपति भवन में प्रदान किया।

2015

स्‍कॉच ऑर्डर ऑफ मैरिट-2015 पुरस्‍कार : 12वीं पंचवर्षीय नैटवर्क परियोजना संस्‍ट्रेन-सस्‍टेनेबल ट्रांसपोर्टेशन में सीएसआईआर-सीआरआरआई, नई दिल्‍ली नोडल प्रयोगशाला और सीएसआईआर-सीएसआईओ, चण्‍डीगढ़ एक प्रतिभागी प्रयोगशाला थी। इसके लिए सीएसआईआर-सीआरआरआई को 800 नामांकनों में से स्‍कॉच ऑर्डर ऑफ मैरिट-2015 पुरस्‍कार प्रदान किया गया। डॉ एस के मित्‍तल, वैज्ञानिक, सीएसआईआर-सीएसआईओ इस परियोजना में संगठन की ओर से परियोजना प्रमुख थे।

 परिणाम सुनीता, नीलम कुमारी, विनोद करार एवं अमित लोचन शर्मा द्वारा लिखे गए स्‍टडी ऑफ ऑप्टिकल एंड सरफेस करेक्‍टरीस्टिक्‍स ऑफ ई-बीम डिपोजि़टिड TiO2 थिन फिल्‍म्‍स विषयक पेपर को महात्‍मा गांधी विश्‍वविद्यालय, केरल में 11-13 दिसम्‍बर, 2015 को आयोजित आईसीएएमपीई-2015 अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में श्रेष्‍ठ पोस्‍टर पुरस्‍कार मिला।

 स्‍कॉच स्‍मार्ट टैक्‍नोलॉजी अवार्ड 2015 सीएसआईआर-सीएसआईओ, चण्‍डीगढ़ को प्रदान किया गया। यह उच्‍चतम स्‍वतंत्र पुरस्‍कार संगठन को कृषि अनुप्रयोगों के लिए इलेक्‍ट्रोस्‍टेटिक नोज़ल के सफल विकास के लिए 11 दिसम्‍बर, 2015 को नई दिल्‍ली में प्रदान किया गया।

नरेन्द्र सिंह जस्सल,संजीव वर्मा,काशीदास चट्टोपाध्याय, बीएस पाब्ला द्वारा लिखे गए सरफेस मॉडिफिकेशन ऑफ़ एल्युमीनियम 6061 यूसिंग पीएम इलेक्ट्रोड ऑन इडीएम विषयक पेपर को 16 अक्टूबर, 2015 को चितकारा यूनिवर्सिटी राजपुरा द्वारा आयोजित 5वें अंतर्राष्ट्रीय सम्‍मेलन में सर्वश्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्रदान किया गया।
दीपिका भटनागर,अशोक कुमार,इंदरप्रीत कौर द्वारा लिखे गए नॉवल एफआरइटी इम्मुनोसेंसर यूसिंग बायोकम्पेटिबल ग्राफेन क्वाँटम डॉट फॉर अर्ली डायग्नोसिस ऑफ़ मायोकार्डियल इन्फ्रक्शन विषयक पेपर को 5 से 7 अक्टूबर को 6वें वर्ल्ड कांग्रेस ऑन बायोटेक्नोलॉजी ओमिक्स अंतरराष्ट्रीय नई दिल्ली सम्‍मेलन में सर्वश्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्रदान किया गया।
 रेणु भारद्वाज, विपन कुमार, नीलेश कुमार, द्वारा लिखित "एलन वेरिएंस द स्टैबिलिटी एनालिसिस एल्गोरिथम फॉर एमइएमएस इनरशिल सेंसर्स स्टोचस्टिक एरर" कोलंबिया, वैंकूवर, कनाडा में अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन एंड वर्कशॉप ऑन कंप्यूटिंग एंड कम्नुकेशन (आईईएमसीओएन 2015)  को इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट, जयपुर, इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट, वेस्ट बंगाल, इंडिया द्वारा 15 से 17 अक्टूबर, 2015 के आयोजित सम्‍मेलन में सर्वश्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्रदान किया। 

संगठन को कृषि अनुप्रयोगों के लिए इलेक्‍ट्रोस्‍टेटिक नोज़ल के सफल विकास के लिए स्‍कॉच ऑर्डर ऑफ मैरिट अवार्ड-2015 प्रदान किया गया। यह पुरस्‍कार इंडिया हैबिटेट सेन्‍टर, नई दिल्‍ली में 10 दिसम्‍बर, 2015 को आयोजित एक कार्यक्रम में प्रदान किया गया।

मनीष कुमार, सचिन, जेबा प्रणीन, जसप्रीत कौर, नितेश कुमारी, बबन कुमार बन्‍सोड द्वारा लिखे गए फेसियल सिंथेसिस ऑफ़ नैनो साइज्ड ZnO हाइड्रो-थर्मल  विषयक पेपर को 25 अप्रैल, 2015 को एसआरएम स्‍मारक वूमेन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टैक्‍नोलॉजी, बरेली, उत्‍तर प्रदेश द्वारा आयोजित एआरटीईसी-2015 नामक राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में सर्वश्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्रदान किया गया।

सचिन कुमार, बबन कुमार, रितुला ठाकुर एवं मनीष कुमार द्वारा लिखे गए ‘’सॉयल सेंन्सिंग टैकनीक्‍स एंड टैक्‍नोलॉजीस रिव्‍यू’’ विषयक पेपर को 25 अप्रैल, 2015 को एसआरएम स्‍मारक वूमेन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टैक्‍नोलॉजी, बरेली, उत्‍तर प्रदेश द्वारा आयोजित एआरटीईसी-2015 नामक राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में सर्वश्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्रदान किया गया।

 एम. के. पटेल, हेमंत के. साहू, मनोज के नायक, अश्विनी कुमार, सी. घनश्‍याम और आमोद कुमार को 11 अप्रैल, 2015 को बरवाला, पंचकूला में आयोजित अभियांत्रिकी एवं विज्ञान में उभरते हुए क्षेत्र’’ विषयक राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में इलेक्‍ट्रोस्‍टेटिक नोज़ल – न्‍यू ट्रेंड्स इन एग्रीकल्‍चरल पेस्टिसाइड स्‍प्रेयिंगविषय पर प्रस्‍तुत पेपर को सर्वश्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्राप्‍त हुआ।

 डॉ नीलम कुमारी, मुकेश कुमार, पी के राव, विनोद करार एवं अमित लोचन शर्मा को उनके अनुसंधान एवं विकास कार्य से संबंधित पेपर के लिए 20-22 फरवरी, 2015 को कोलकाता विश्‍वविद्यालय में आयोजित ऑप्टिक्‍स एवं फोटोनिक्‍स पर अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन-आईकॉप-2015 में ओएसआई-श्रेष्‍ठ पेपर श्रेणी में ऑप्टिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया पुरस्‍कार प्रदान किया गया।

मुकेश कुमार, नीलम कुमारी, पी के राव, विनोद करार, एस वी रामगोपाल एवं अमित लोचन शर्मा को उनके अनुसंधान एवं विकास कार्य से संबंधित पेपर के लिए 20-22 फरवरी, 2015 को कोलकाता विश्‍वविद्यालय में आयोजित ऑप्टिक्‍स एवं फोटोनिक्‍स पर अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन-आईकॉप-2015 में ओएसआई-श्रेष्‍ठ पेपर श्रेणी में ऑप्टिकल सोसाइटी ऑफ इंडिया पुरस्‍कार प्रदान किया गया।

 उमेश तिवारी, सिद्धार्थ कौशिक एवं भार्गब दास के वैज्ञानिक पेपर को 20-22 फरवरी, 2015 को कोलकाता विश्‍वविद्यालय में आयोजित ऑप्टिक्‍स एवं फोटोनिक्‍स पर अंतर्राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन-आईकॉप-2015 में विद्यार्थी श्रेणी में ओएसए श्रेष्‍ठ पेपर पुरस्‍कार प्रदान किया गया।





First|1|2|3|Last
Last Updated on: 2021-03-15 17:06:06

टेक्नोलॉजीज

अनुसंधान सुविधाएं



Image Not Found   Image Not Found Image Not Found Image Not Found   Image Not Found   Image Not Found   Image Not Found   Image Not Found    Image Not Found    Image Not Found